होती नही है मोहब्बत सूरत से; मोहब्बत तो दिल से होती है
सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी; कदर जिनकी दिल में होती है|

Related posts